Achhi Zindagi Jeene Ke लिए 80 Best Anmol Vachan

Anmol Vachan  ⇒ अनमोल वचन हमारे अंदर हौंसला पैदा करते हैं हर एक Anmol Vachan  पढ़कर उसके बारे में थोड़ी देर सोचे कि इसमे क्या कहा गया हैं सच कहता हूं आपको प्रेणा मिलेगी यहाँ पर मैं अभी सिर्फ 80 अनमोल वचन (Anmol Vachan) शेयर कर रहा हूं "Achhi Zindagi Jeene Ke लिए 80 Best Anmol Vachan"

Achhi Zindagi Jeene Ke लिए 80 Best Anmol Vachan
Achhi Zindagi Jeene Ke लिए 80 Best Anmol Vachan


Anmol Vachan↴

1. अँधेरा चाहे कितना भी हो लेकिन एक छोटा सा दीपक अँधेरे को चीरकर प्रकाश फैला देता है
 वैसे ही जीवन में चाहे कितना भी अँधेरा हो पर विवेक रूपी प्रकाश अन्धकार को मिटा ही देता है। 

2. वज्र पर्वत से   है लेकिन वज्र के प्रभाव से बड़े से बड़े पर्वत भी चकनाचूर हो जाते है। 

3. जिसने अपनी  इच्छाओं पर काबू पा लिया , उस मनुष्य ने जीवन के दुखों पर काबू पा लिया।  

4. नीम के पेड़ को अगर घी और Milk से भी सींचा जाए , तो भी नीम का वृक्ष मीठा नहीं हो जाता। 
   उसी प्रकार दुष्ट व्यक्ति (People) को कितना भी Gyan दे दो वो अपनी दुष्टता नहीं त्यागता।  

5. संकट के समय धैर्य धारण करना , मानो आधी लड़ाई जीत लेना है।  

6. पाप एक प्रकार का अँधेरा है , जो ज्ञान का प्रकाश होते ही मिट जाता है। 

7. बिना कुछ किये ज़िंदगी गुज़ार देने से कहीं अच्छा है  ज़िंदगी को गलतियां करके गुज़ार देना।  

8. पैर  की मोच और छोटी सोच
     हमें आगे बढ़ने नहीं देते । 

9. लगातार हो रही असफलताओं से निराश नहीं होना चाहिए ,
    कभी कभार गुच्छे की आखिरी चाबी भी ताला खोल देती है। 

10. सफलता की कहानियां मत पढ़ो ,
      उससे केवल आपको एक संदेश मिलेगा ,
     असफलता की कहानियां पढ़ो उनसे आपको सफल होने के विचार मिलेंगे।  

11. दुनिया में सब मिल जाता  है.....
      केवल अपनी गलती नहीं मिलती।  

12. क्रोध हमेशा मनुष्य को तब आता है। ....
      जब वह अपने आप को कमज़ोर (weak) और पराजित हुआ पता है।  

13. मुसीबत में अगर मदद मांगो तो सोच समझ कर माँगना क्योंकि,
       Problem थोड़ी देर की होती है और एहसान (Favor) ज़िंदगी भर का।  

14. अपनी कमियां पूरी दुनिया से छिपाइए , लेकिन अपनी कमियां खुद से मत छिपाइए
      अपनी कमियां My Self (खुद) से छिपाने का मतलब होता है अपने आप को खुद Ruin (बर्बाद) करना । 

15. परिश्रम  वह चाबी है जो ,
      सो भाग्य के द्वार खोलती है।  

16. मस्तक को थोड़ा झुकाकर देखिये ,
    आपका अभिमान मर जाएगा। 

17. ईश्वर हर जगह नहीं हो सकते,
     इसलिए उन्होंने माँ को बनाया।  

18. दांतो को आराम देकर देखिए ,
      आपका स्वास्थ्य सुधर जाएगा। 

19. आपके हाथों से कोई छीन सकता है लेकिन,
      जो नसीब में है उसे कोई नहीं छीन सकता । 

20. प्रयास करने वाला इंसान एक बार गिरता है।
      लेकिन प्रयास न करने वाले लोग जीवन भर गिरते रहते है।  

21. पैसे से बिस्तर खरीदा जा सकता है नींद नहीं,
      पैसे से महल खरीदा जा सकता है लेकिन खुशियां नहीं।  

22. जो इंसान दूसरों का दुःख दर्द समझता है ,
      वही महापुरुष है।  

23. " लोग क्या कहेंगे " ये बात इंसान को आगे नहीं बढ़ने देती।  

24. मैं और आप उस इंसान को ढूंढ रहे है जो आके आपकी मदद करेगा ,
      तो शीशे के सामने खड़े हो जाओ , आपको वो इन्सां नज़र आ जाएगा
      जो आपकी मदद करेगा।  

25. सफलता का कोई पैमाना नहीं होता -
      एक गरीब बाप का बेटा बड़ा होकर अफसर बने पिता के लिए यही सफलता है
      जिस इंसान के पास कुछ खाने  को ना हो , वो सुख पूर्वक 2 वक्त की रोटियां  जुटा ले ,
      ये भी सफलता है मित्रों।  

26. कितने मुर्ख है हम ,
      हम भगवान के बनाये फलों को भगवान को ही अर्पण करके,
       धन दौलत मांगने लगते है।  

27. जो लोग दूसरों का भला सोचते है , केवल उन्ही का जीवन सफल है ,
       अपने लिए तो जानवर भी जीते है।  

28.धागा एक बार टूट जाए तो फिर से जोड़ने पर भी गांठ पड़ ही जाती है
     उसी तरह रिश्ते एक बार टूट जाए तो फिर से जोड़ने में एक गाँठ बन ही जाती है। 

29. कामयाब होने वाले इंसान हमेशा खुश रहते है ,
      और जो खुश रहते है दरअसल वही कामयाब होते है । 

30. मुस्कुराहट मन का बोझ हल्का कर देती है।  

31. गुस्सा करना अपने पैरों पर ही कुल्हाड़ी मारना है ,
      क्यूंकि आप जिसपे गुस्सा (Anger) करते है। 
       उससे ज्यादा आपका खुद का Damage (नुक्सान) होता है।  

32. ज्ञानी इंसान कभी घमंड नहीं करता,,
      और जिसे घमंड होता है
       ज्ञान उससे कोसों दूर होता है । 

33. अमर वही इंसान होते  है....
      जो दुनिया को कुछ देकर जाते है।  

34. दुःख में इंसान ईश्वर को याद करता है ,
     But सुख में God को ही भूल जाता है
    अगर सुख में भी इंसान God  के करीब रहे
     तो दुःख ही क्यों हों।  

35. जिस दिन आपने अपनी सोच बड़ी कर ली दोस्तों ,,
       बड़े बड़े लोग आपके बारे में सोचना (Think) Start कर देंगे।  

36. त्याग दी सब ख्वाहिशें
      कुछ अलग करने के लिए ,
      "राम" ने खोया बहुत कुछ
      "श्री राम" बनने के लिए । 

37. मुस्कुराना एक कला है
      जिसने इस कला को सीख लिया ,
      वो जीवन में कभी दुःखी हो ही नहीं सकता।  

38. हर सफलता संघर्ष से होकर गुजरती है
      बिना संघर्ष के सफलता की कल्पना भी नहीं की जा सकती।  

39. जिनका कद ऊंचा है।
      वो दूसरों से झुक कर ही बात करते है । 

40. आप कब सही थे ,
      इसे कोई याद नहीं रखता ,
     आप कब गलत थे
     इसे कोई नहीं भूलता।  

41. " कुछ लोग "
      तो आपसे Only  इसलिए भी "Hate" करते है। .
      Because बहुत सारे लोग आपसे "Love" करते है। 

42. बड़प्पन वह गुण है ,,
     जो पढ़ने से नहीं संस्कारों से प्राप्त होता है
     परायों को अपना बनाना उतना मुश्किल नहीं,
    जितना अपनों को अपना बनाये रखना है।  

43. शिक्षक और सड़क दोनों एक जैसे ही होते है
      खुद जहाँ है वहीँ  रहते है ,
     मगर दूसरों को उनकी Goal तक पहुंचा (Reached) ही देते है।  

44. खुद से बहस करोगे तो सारे सवालों के जव्वाब मिल जाएंगे
     अगर दूसरों से करोगे तो New सवाल खड़े हो जाएंगे ,
     जब मनुष्य अपनी गलती का  Advocate और दूसरों की गलतियों का Judge बन जाता है...
     तो फैसले नहीं Distant हो जाते  है।  

45. कोई भी उस व्यक्ति की शक्ति से प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकता जिसकी धैर्य की शक्ति है। 

46. जीवन में किसी व्यक्ति की आंखों को दूर करना परेशानी नहीं करता है, बल्कि उस समस्या का सामना करके मनुष्य की आंखें खोलता है।

47. यह धोखा देने के लिए एक बल हो सकता है, लेकिन प्यार वह बल है जिसमें अभी भी समाधान है।

48. प्रत्येक व्यक्ति को यह याद रखना चाहिए, जब तक कि हम अपने आप में विश्वास न करें, हम खुद का सम्मान नहीं कर सकत। 

49. अगर कोई व्यक्ति अपनी पूरी लगन के साथ कोई काम करता है, तो उसे हार का सामना नहीं करना पड़ता है।
50.  घंटे में एक बार हमारी जिभ्वा और मस्तिष्क में सरस्वती जी विराजमान होती है इसलिए आप हमेशा अपने और दूसरो के बारे में अच्छा सोचे. क्या पता जो आप बोल रहे है या सोच रहे है उसी समय सरस्वती जी की कृपा हो और आप की बाते या सोच सच हो जाए. इसलिए हमेशा सकारात्मक सोचे। 

51. सीढियों की जरूरत उनको पड़ती हैं जिन्हें छत तक ही जाना हो. यदि आपकी मंजिल आकाश हैं तो आपको ख़ुद रास्ता बनाना होगा। 

52. मुश्किलें केवल बहादुर लोगो के हिस्से में ही आती हैं, क्योकि वो लोग उसे बड़ी बहादुरी से अंजाम देने की ताकत रखते हैं। 

53. मनुष्य में धैर्य होना चाहिए, जल्दबाजी नही मनुष्य में बहादुरी होनी चाहिए, ज़िद्द नही सोच सकारत्म होनी चाहिए, नकारात्मक नही  ज्ञान होना चाहिए, अहंकार नही। 

54. सबसे पहले आप ख़ुद पर विश्वास करे और फिर ईश्वर पर विश्वास करे, इसके बाद आप उसी विश्वास के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त करे। 

55.  जीत हमारे जीवन में “प्रसन्नता” लाती हैं और हार हमारे जीवन में “समझदारी (ज्ञान)” लाती हैं। 

56. नाव बदले से किनारे नही बदलते, दिशा बदलने से किनारे बदलते हैं. अपने लक्ष्य को न बदले अपने कार्य करने के तरीके को बदले। 

57. जब हम किसी कार्य को करने के लिए सोचते हैं तो बहुत कठिन लगता हैं जब हम उसे कर देते हैं तो सोचते हैं कितना आसान था इसलिए सोचने में समय व्यर्थ न करे, कार्य को करने में समय का सदुपयोग करे। 

58.  जीवन में सफलता, प्रसन्नता का कारण नही होती हैं जबकि प्रसन्नता ही सफलता का मुख्य कारण हैं। 

59. हार-जीत सिर्फ मनुष्य के मस्तिष्क में हैं क्योकि हार हो या जीत दोनों में कुछ-ना-कुछ हम पाते हैं। 

60. थकान कभी भी, काम के कारण नही लगती हैं बल्कि चिंता, निराशा, भय और असंतोष के कारण होती हैं। 

61. जो पत्थर छैनी और हथौड़ी की मार से टूट जाती हैं वह पत्थर सीढियों में लगा दी जाती हैं और जो मार सह लेती हैं वह मूरत बन जाती हैं और मंदिर में उसकी पूजा की जाती हैं। 

62. बचपन में भी ग़जब का विश्वास था, हजारो बार गिरे पर खड़े होने से नही डरे। 

63. रास्ते में कंकड़ हो तो आसनी से चला जा सकता हैं यदि जूते में कंकड़ हो तो एक क़दम भी चलना मुश्किल होता हैं। 

64. हुनर सबमे होता हैं फर्क इतना हैं किसी का छिप जाता हैं और किसी का छाप जाता हैं। 

65. ज्ञान से बड़ा कोई मित्र नही हैं और अज्ञानता से बड़ा कोई शत्रु नही। 

66. यदि कोई मनुष्य समस्या का हल नही निकाल सकता हैं तो वह ख़ुद एक समस्या हैं। 

67. कायर व्यक्ति अपने मृत्यु से पहले कई बार मरता हैं जबकि बहादुर व्यक्ति अपने जीवन में एक ही बार मृत्यु को प्राप्त होता हैं। 

68. मनुष्य को अपने भीतर से अहंकार को निकाल कर स्वयं को हल्का रखना चाहिए, क्योकि ऊँचा वही उठता हैं जो हल्का होता हैं. अहंकार मनुष्य को आगे नही बढ़ने देता हैं । 

69. ज्ञान, ध्यान, धैर्य और कर्म सब गुरू की ही देन होती हैं इसलिए जीवन में एक सच्चा गुरू जरूर बनाये जो आपका मार्गदर्शन कर सके। 

70. बुरे कर्मो का त्याग करना, अच्छे कर्म करने से भी अधिक महत्वपूर्ण हैं। 

71. मनुष्य जितनी शीघ्रता से दूसरो में दोष देखता हैं यदि खुद में देखे तो वह एक महान व्यक्ति बन सकता हैं और किसी भी लक्ष्य को प्राप्त कर सकता हैं । 
72. जीवन में वह व्यक्ति सबसे ज्यादा ख़ुश होता हैं जो रह दिन कुछ-ना-कुछ सीखता हैं। 

73. यदि कोई आपकी कमियाँ बता रहा हैं तो उसे ध्यानपूर्वक सुने. सही बोल रहा है तो सुधार करे. यही आपको अंदर से मजबूत करेगा और लक्ष्य को प्राप्त करने में मदत करेगा। 

74. आप अपनी ताकत का अनुभव तब तक नही कर पाते जब तक आप और आपकी सबसे बड़ी कमज़ोरी आमने-सामने नही होते हैं। 

75. यदि आपका लक्ष्य चुनौती पूर्ण नही है तो यह आपको और आपके जीवन को नही बदल सकता। 

76. भय केवल मनुष्य के मस्तिष्क में होता हैं हकीकत में इसका कोई अस्तित्व ही नही हैं। 

77. सफलता अनुभव से आती हैं और अनुभव, जीवन के उतार-चढ़ाव से आता हैं। 

78. जो कर्म आपको अंदर से मजबूत बनाए वही अच्छा कर्म हैं. बुरा कर्म इंसान को अंदर से कमजोर बनाता हैं। 
अच्छा कर्म मन और हृदय को सुख, शांति और समृद्धि से भर देता हैं। 

79.मनुष्य अपनी गलतियों से सबसे ज्यादा सीखता हैं परन्तु “गलती न हो जाए” इसलिए बहुत सारे कार्य को करता ही नही हैं। 

80. धन होने से आप केवल धनवान हो सकते हैं परन्तु महान नही हो सकते हैं. महानता, केवल महान विचारो से ही आती हैं और यही विचार उच्च कार्य करने की प्रेरणा देते हैं मनुष्य को धैर्यवान होना चाहिए जिस प्रकार वृक्ष समय आने पर ही फल देते हैं । 

Final Word ⇒

दोस्तों में उम्मीद करता हु की आपको यह 
[ Achhi Zindagi Jeene Ke लिए 80 Best Anmol Vachan ]
Article पसंद आया होगा। अपने विचार Comment Box में दे
और इससे अपने दोस्तों के साथ Share करे।

धन्यवाद 

Post a Comment

0Comments