एड्स के लक्षण, बचाव हिंदी में - Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me

एड्स के लक्षण, बचाव हिंदी में  - Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me


एड्स के लक्षण, बचाव हिंदी में  - Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me

विश्व एड्स दिवस (World  Aids Day ) हर साल 1 दिसंबर को मनाया जाता है। विश्व एड्स दिवस (World  Aids Day 2018 )  का उद्देशय HIV सक्रमण के कारण होने वाली Problems एड्स (Aids) के बारे जागरूकता बढ़ाना है। 



साल 2018 में वर्ल्ड एड्स डे की थीम (World Aids Day 2018 Theme ) अपनी Body की स्थिति के बारे में ध्यान दे। इसका Meaning यह है की Har मनुष्य को अपनी HIV Stats की Information होनी चाहिए। 

एड्स (Aids) वर्तमान युग की सबसे Big Problems स्वास्थ्य में से एक है। UNICEF की Report के अनुसार 36. Million लोग HIV का शिकार हो चुके है।"Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me"

Indain Government द्वारा जारी किये गये आंकड़ों के अनुसार भारत में HIV के रोगियों की संख्या लगभग 2.1 Million है। "Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me"

कैसे हुई विश्व एड्स दिवस (World  Aids Day ) की शुरुआत ? 

विश्व एड्स दिवस (World  Aids Day ) सबसे पहले अगस्त 1987 में जेम्स डब्लयू बुन और थॉमस नेटर नाम के व्यक्ति ने बनाया था जेम्स डब्लयू बुन और थॉमस नेटर विश्व स्वास्थ्य संगठन में Aids पर ग्लोबल कार्यक्रम (WHO) के लिए अधिकारियो के रूप में जिनेवा, स्विज़रलैंड नियुक्त थे।     

जेम्स डब्लयू बुन और थॉमस नेटर ने WHO के Global Program On एड्स के Director जोनाथन के सामने  विश्व एड्स दिवस (World  Aids Day ) का सुझाव रखा। जोनाथन को विश्व एड्स दिवस (World  Aids Day ) मनाने का विचार अच्छा लगा। 

उन्होंने 1 दिसंबर 1988 को विश्व एड्स दिवस (World  Aids Day ) मनाने के लिए Chuna . 8 सरकारी सार्वजानिक स्वास्थ्य  दिवसों में विश्व एड्स दिवस (World  Aids Day ) में शामिल है। 

Hiv एड्स क्या है :-

Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me

Full Name Of Aids Acquired Immune Deficiency Syndrome और यह Problem HIV Virus से होती है। यह virus मनुष्य के प्रतिरोधी Power को कम कर देती है। 

Aids HIV Positive गर्भवती औरत से उसके बच्चे को, असुरक्षित यौन सबंध से या संक्रमित Blood से या संक्रमित सुई से होता है। 

एड्स रोग कैसे होते है :-

  1. एक से अधिक महिलाओं से यौन सबंध रखने से। 
  2. वेश्यवृति करने वाले लोगो जो यौन से संपर्क बनाते है। 
  3. नशीली दवाइयों एंव पदार्थ इस्तेमाल होने वाले टिके से। 
  4. HIV संक्रमित व्यक्तियों से अंग दान लेने से। 
  5. HIV संक्रमित व्यक्ति व्यक्तियों का इस्तेमाल किया गया बसेड या टिका आदि से भी एड्स (Aids ) हो सकता है। 
  6. बिना जांच किया हुआ या फिर Blood Bank द्वारा अन्सर्टिफाईड Blood लेने से एड्स (Aids ) हो सकता है 
  7. अगर Parents के HIV संक्रमित है। और अपने बच्चे को पैदा करते है। तो उस बच्चे में भी एड्स (Aids ) होने का Chance अधिक रहता है। 

एड्स से बचाव के उपाय :-

Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me



आज के Time में एड्स (Aids ) को रोकने के लिए बहुत से नुश्खे और Tablet उपलबध है। कम लोगो के साथ यौन सबंध बनाना, Use की हुई सुई का द्वारा Use में न लाये, और जब  आप यौन सबंध बनाते है तब कंडोम का सही तरीके से Use करना। 

अगर आप को HIV एड्स (Aids ) है तो कई जरुरी बाते है। जो आप को HIV एड्स (Aids ) को दूसरों तक फैलने से Stop कर सकते है। 

HIV एड्स (Aids ) से बचने (Bachne) के तरीके में सबसे महत्वपूर्ण HIV (Antiretroviral therapy or ART ) का इलाज करने के लिए Daily सही तरीके से दवा लेना होता है। 

ये HIV एड्स (Aids ) से की दवाये और एड्स (Aids ) से बचने (Bachne) के तरीके आपको कई बर्षो तक स्वस्थ रखती है। और आपके साथी को HIV प्रसारित करने की संभावना को बहुत कम कर सकते है। 

 एड्स (Aids ) इन कारणों से होता है :-

Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me

एड्स के लक्षण, बचाव हिंदी में  - Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me
  1. अनसेफ Sex (बिना कंडोम के ) करने से। 
  2. संक्रमित Blood चढ़ाने से। 
  3. HIV Positive महिला के बच्चे में। 
  4. एक बार प्रयोग में लाई हुई सुई का द्वारा प्रयोग करना। 
  5. इन्फेक्टेड Blood Use करने से। 

एड्स (Aids ) के Lakshan है :-

Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me

  • बुखार 
  • रात में पसीना आना 
  • ठण्ड लगना 
  • थकान महसूस होना 
  • भूख कम लगना 
  • वजन घटना गले में खराश होना 
  • उल्टी आना 
  • दस्त लगना 
  • खांसी लगना
  • साँस लेने में Problem आना 
  • Skin पर अनचाहे दाग होना  


यह भी पढ़े:⇨
Final Word :-

दोस्तों में आशा करता हूँ की आपको ये लेख पसंद आया होगा। 
एड्स के लक्षण, बचाव हिंदी में  - Aids Ke Lakshan Bachav Hindi Me
अपने दोस्तों के साथ इसे share करे और Social media पर भी share करें। 

Thanks

Post a Comment

0Comments