प्राथमिक उपचार के लक्ष्य एव उद्देश्य आपको जरूर पता होने चाहिए First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy Aapko Jarur Pta Hone Chahaiye

 प्राथमिक उपचार के लक्ष्य एव उद्देश्य आपको जरूर पता होने   चाहिए First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy Aapko Jarur Pta Hone Chahaiye ⇨

प्राथिमक उपचार के लक्ष्य एव उद्देश्य आपको जरूर पता होने चाहिए First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy Aapko Jarur Pta Hone Chahaiye
 First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

परिभाषा First Aid:⇨

            प्राथमिक उपचार (First Aid) किसी घायल या अचानक बीमार हुए व्यक्ति को अस्थाई एंव तुरंत दी गई उपचार सहायता है। जिसमे नियमित चिकित्सा देने से पहले वहाँ उस Time उपलब्ध सामग्री का Use किया जाता है " First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy Aapko Jarur Pta Hone Chahaiye"

उद्देश्य First Aid:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

  1. जीवन की रक्षा करना। 
  2. अधिक क्षति से बचाना तथा स्थिति बिगड़ने से रोकना। 
  3. जहाँ तक संभव हो सके, पीड़ित की क्षमता बनाये रखने के लिए उसे ज़्यादा से ज़्यादा आरामदेह स्थिति में लाना। 
  4. घायल व्यक्ति को जल्दी से जल्दी विशिष्ट चिकित्सा सेवाओं के अंतगर्त लाना।   

सिद्धांत First Aid:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

प्राथिमक उपचार के लक्ष्य एव उद्देश्य आपको जरूर पता होने चाहिए First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy Aapko Jarur Pta Hone Chahaiye

 प्राथमिक उपचारक:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

प्राथमिक उपचारक एक आम आदमी हो सकता है। जो अपने बेहतर कौशल के अनुसार प्राथमिक चिकित्सा के मानक उपायों को लागू करना सीख सकता है। उसे रोगी के पास पहुँचने, समस्या को पहचानने तथा आपात स्थिति में प्राथिमक उपचार उपलब्ध कराने में प्रशिक्षित होना चाहिए और जब आवश्यक हो तो रोगी को और आगे क्षति पहुँचाये बिना अपेक्षित जगह पर ले जा सके। 


योग्यताएं:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

  1. एक अच्छा अवलोकनकर्ता होना चाहिए। 
  2. तुरंत कार्यवाही करने में सक्षम होना चाहिए। 
  3. हड़बड़ हाट या अतिउत्तेजना में न आए। 
  4. भीड़ को सभांलने व नेतृत्व की क्षमता होनी चाहिए ताकि पास खड़े देखने वालो से सहायता ले सके। 
  5. आत्मविश्वास पूर्ण हो तथा प्राथमिक उपचार के दौरान क्षति को समझने की योग्यताएं होनी चाहिए। 
  6. आशंकित या घबराएं हुए घायल व्यक्ति को भरोसा दिलाने वाला तथा उसके उत्तेजित या निराश सबंधियों के बीच अपनी योग्यता एंव सहानुभूति दिखाकर बेहतर परमार्श एंव संतुष्टि दिलाने वाला होना चाहिए। 

जम्मेदारिया:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

  • रोगी के पास सरलता एंव सुरक्षित तरीके से पहुँच का लाभ उठाना। 
  • दुर्घटना के दर्शियों का अवलोकन करना तथा स्थिति का मूल्यकांन करना। 
  • यदि आवश्यक हो तो दूसरों को तथा यातायात को दूसरी और मोड़ने का निर्देश दे और नज़ारा देखने वालो को पर्याप्त दुरी पर खड़ा होने को कहें। ज़रूरी टेलीफ़ोन करें। यदि वाहन का इंजन चालू है तो उन्हें बंद करें। 
  • यह पता करे की घायल बेहोश है या होश में है, वह जीवित है अथवा मृत है। 
  • स्थिति या बीमारी को पहचानना, जिसके कारण यह दुर्घटना हुई है एंव घायल प्रभावित हुआ है। 
  • प्राथमिक उपचार के उपायों को प्राथमिकता देते हुए  तुरंत उचित और पर्याप्त उपचार प्रदान करें जैसे की इसमें पहली प्राथमिकता घायल की शवसन प्रिक्रिया चालू करना तथा रक्त संचार जारी रखना है जबकि दूसरी प्राथमिकता रक्त स्राव को रोकना होना चाहिए। 
  • यह सदैव ध्यान में रखें की एक दुर्घटना में घायल को एक से ज्यादा क्षतिया हो सकती है और इनमें कुछ क्षतियो पर तुरंत ध्यान देने की ज़रूरत हो सकती है। 
  • घायल को बिना किसी देरी के एक  डॉकटर या अस्पताल या घर पहुंचाने की Try करें जोकि हताहत की दशा के अनुसार होगा जैसे की घायल की चोट बहुत जटिल न हो या घायल की चोट बहुत जटिल न हो या घायल व्यक्ति खुद को अनावश्यक रूप से असुविधा पूर्ण महसूस करें जो की उसकी क्षति या दशा पर निर्भर करेंगा। 
  • रोगी तथा दुर्घटना का रिकॉर्ड रखें और आपका पता तथा गवाह आदि लिख ले। 
  • एक बार जब प्राथमिक उपचार (First Aid) स्वैछिक रूप से प्रदान करता है। तब उसे घायल को तबतक नहीं छोड़ना चाहिए, जब तक कि कोई योग्य या ज़िम्मेदार व्यक्ति आ कर उसे मुक़्त न करें। 


जम्मेदारिया ख़त्म हो जाएं:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

एक प्राथमिक उपचार (First Aid) की जिम्मेदारी तब खत्म होती है। जब वह घायल को देख रेख के लिए किसी नर्स या Doctor या जिम्मेदार व्यक्ति को सौंप देता है। बाद में Doctor की Help कर सकता है। 

 प्राथमिक उपचारक के लिए चेतावनी:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

  1. प्राथमिक उपचार (First Aid) को यह बात सदैव याद रखना चाहिए की वह एक Doctor नहीं है। 
  2. उसे उन घावों को खोल कर नहीं जाँचना चाहिए जिन्हें किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा पहले ही बांधा जा चूका हो। 
  3. उसे किसी भी व्यक्ति मृत नहीं घोषित करना चाहिए , Because यह उसका कार्यक्षेत्र नहीं है। 

 प्राथमिक उपचारक के कार्य क्षेत्र:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

एक दुर्घटना में,जो किसी सड़क, घर, कारखाना, भवन में घटती है। या फिर प्राकृतिक विपदा, बिजली - आघात, जलना या सर्प -  दंश से हो सकती है। ऐसी सभी दुर्घटनाएं प्राथमिक चिकित्सा के कार्य क्षेत्र में आती है। 

प्राथमिक उपचारक के कौशलों का सरांश:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

❶ दुर्घटना के दृश्य को नियंत्रित करना।

❷ घायल तक पहुंच बनाना।

❸ सुरक्षा तथा दुर्घटना के संभावित कारणों के मद्देनजर दृश्य का मूल्यांकन करना।

❹ रोगी तथा आस पास खड़े लोगों से सूचनाएं एकत्र करना।

❺ महत्वपूर्ण संकेत सुनिश्चित करें- जैसे नाड़ी, साँस चलना, त्वचा ताप ।

❻ नैदानिक संकेतों तथा उससे जुड़े संकेत, जैसे कि सम्भावित क्षतिया या अचानक बीमारियों/कमजोरिया जिनमें आपातकालीन उत्पन्न हो सकती है, को सुनिश्चित करें।

❼ आपस्थिति की दशा में आवशयक आधोपान्त प्रक्रिया पूरी करे।

     क.वायुमार्ग को साफ करें।

     ख.सांस चालू करें ( यदि सांस टूट रही हो तो कृत्रिम वायु दे )।

     ग.रक्त नाड़ी देखें।
     घ.खून का बहाव ( रक्तस्त्राव ) Control करें ( रक्तस्त्राव को सीधे हाथ से दबाकर, ऊपर उठाकर, प्रेसर Point ( दाब बिन्दुयो ) एंव रक्त बंध ( टोर्नी क्युट्स ) द्वारा Control करें। )
 सदमे का निदान - जाँच एंव देखभाल करें। 
जलने एंव धुआँ गुटकने की जाँच एंव देखभाल करें। 
शिशु प्रसव एंव नवजात शिशु की देखभाल में Help करना। 
उचित रूप से ले जाने ( परिवहन ) की तकनीक को उपयोग में लांए। 

प्राथमिक उपचार के स्वर्णिम Rules:⇨

First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy

  1. पहला काम पहले, तुरंत, शांत भाव से बिना हड़बड़ी के करें। 
  2. घायल एंव उसके सबंधियो को सहानुभूतिपूर्वक भरोसा दिलाएं। 
  3. घायल को अनावश्यक रूप से इधर - उधर करने से बचें। 
  4. जहाँ तक संभव हो जल्दी से जल्दी घायल को सुरक्षित ढंग से doctor या Hospital ले जाने की व्यवस्था करें। 

प्राथमिक उपचार के लिए दवा पेटी ( किट ):⇨


First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy



  • तिकोनिया पट्टियां 
  • रोलर टाइप पट्टियां 
  • मरहम पट्टी/गाज पैड्स 
  • चिपकने वाली टेप 
  • बेंडेज शीट्स 
  • नेत्र आवरण या सरक्षक 
  • रक्त बंध के लिए स्टिक ( मोटी पट्टी )
  • कंबल 
  • तकिया 
  • अपर एक्सट्रिमिटी स्प्लीन्ट ( खपच्ची ) सेट 
  • लोवर एक्सट्रिमिटी स्प्लीन्ट ( खपच्ची ) सेट 

यह भी पढ़े:⇨

Final Word:⇰
दोस्तों में उम्मीद करता हूँ की आपको यह 
 प्राथमिक उपचार के लक्ष्य एव उद्देश्य आपको जरूर पता होने चाहिए
[ First Aid Ke Lakshy Or Uddeshy Aapko Jarur Pta Hone Chahaiye ]
Post जरूर पसंद आई होगी और यह पोस्ट GNM. करने वाले Student के लिए बहुत 
ही लाभदायक साबित होगी अपने विचार Comment Box में जरूर दे। 

Thanks 

Post a Comment

0Comments